स्टार प्लस का शो ये जादू है जिन्न का अपने पहले एपिसोड के साथ आ गया है और पढ़िए हम इसके बारे में क्या महसूस करते है।

स्टार प्लस के शो ये जादू है जिन्न का की समीक्षा:  प्रभावशाली किरदार और शानदार दृश्य के साथ अच्छी शुरुआत

मैं डेली सोप ज्यादा नहीं देखता हूं,  लेकिन मैं गुल खान द्वारा निर्मित स्टार प्लस के फैंटेसी शो, ये जादू है जिन्न का का इंतजार कर रहा था।

कहना होगा कि पहला एपिसोड जो कुछ दिन पहले हॉटस्टार पर आया है, उसने मुझे प्रभावित किया।

कहानी नई नहीं है, नजर का ही दूसरा वर्जन है, एक मुस्लिम ट्विस्ट के साथ।

लेकिन हां, दृश्य प्रभाव शानदार थे। अमन (विक्रम सिंह चौहान) अपनी शक्तियों का उपयोग करता है और मज़ार को गिरने होने से बचाता है (नीचे देखें)।

अमीर बनने के लिए अमन के अब्बू (सुशांत सिंह) ने एक जिन्न की मदद ली थी, लेकिन फिर अपने बेटे को देने की सौदेबाजी का अंत करना भूल गए थे। और जैसा कि कहा जाता है, जिन्न हमेशा वापस आते हैं। जिन्न द्वारा एक कार को नष्ट करने वाले शुरुआती दृश्य ने काफी प्रभावित किया।

यहां वह उन शक्तियों के साथ बड़ा हुआ है जिसका वह विवरण नहीं कर सकता है।

अमन की दादी और मां (स्मिता बंसल) काफी डरे हुए है कि जिन्न वापस आएगा और उसे लेकर जाएगा।

दूसरी तरफ, हमारे पास है मासूम और प्यारी लड़की रोशनी (अदिति शर्मा) जो एक सम्मानजनक पेशा (बेकरी) अच्छे से संभालना चाहती  है। वह हमेशा पक्षियों से घिरी हुई रहती है। अमन के पिता ने उसे शिशु के रूप में ही मारने कि कोशिश की थी लेकिन पक्षियों ने बचा लिया।

दोनों अमन और रोशनी मज़हर में एक दूसरे से टकराते है और उनका झगड़ा होता है। गुस्से में अमन अपनी गाड़ी तबाह कर देते है जब रोशनी उनके पिता के बारे में बोलती है।

लेकिन फिर जिन्न मज़हर को तबाह करने लगता है और अमन इसे बचा लेता है।

यही सब पहले एपिसोड में हुआ है।

विक्रम एक ऐसे व्यक्ति के रूप में अच्छी तरह से काम कर रहे है जो नहीं जानता कि उसके पास शक्तियां क्यों हैं।  वह कोई है जो उद्देश्य और उसके पिता की तलाश में है।

उनकी दादी एक प्यारी महिला हैं जो आधुनिक बनने की कोशिश कर रही हैं। अमन के साथ उनका रिश्ता मजेदार है।

स्मिता बंसल वही करती हैं, जो ऑन-स्क्रीन मां के लिए आवश्यक है – चिंता और रोना।

अदिति बहुत सुंदर लग रही है और अपने किरदार की मासूमियत को बड़ी अच्छे से सामने लाती है। एमएलए ग्राहक के साथ उनकी फोस्टर माँ (गरिमा सिंह विक्रांत) के साथ उनकी बातचीत मजेदार थी।

दृश्य प्रभाव, जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, अच्छे हैं, आपको व्यस्त रखते हैं। आशा है कि कहानी समान रूप से आकर्षक होगी। अंततः दर्शकों को वापस लाने के लिए उच्च नाटक की आवश्यकता है।

अभी तक गुल ने सभी बॉक्सों पर टिक किया है।  पहला एपिसोड आपको स्पष्ट रूप से बताता है कि क्या उम्मीद करे। यह एक काल्पनिक नाटक है।

आइए देखते हैं कि प्रतिभाशाली अभिनेता जयति भाटिया और सीमा आज़मी को कहानी के आगे जाने पर कौन से किरदार मिलते हैं।

गुल खान कि सभी हिट कंटेंट देने की अच्छी प्रतिष्ठा है (नजर, इश्कबाज) उन पर कई जिम्मेदारियां है। फैंटेसी के अलावा, जादू के प्रेम कहानी भी देखी जाएगा क्योंकि अमन कि शादी होने वाली है। कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि को रोशनी से प्यार करने लगेंगे और सब एक ayarf हो जाएगा।

जैसा कि हम जानते है कि गुल अपने शो के माध्यम से युवा से अधिक जुड़ती है, उनके शो को टीवी से ज्यादा ऑनलाइन अधिक व्यूज मिलते है। तो हॉटस्टार के नंबर देखना दिलचस्प होगा। मुझे लगता है कि अभी तक स्टार को पता चल गया होगा कि सभी प्री रिलीज में मेहनत काम अाई है शो के काल टीवी पर आने से पहले उसके ऑनलाइन व्यू को देखते हुए।

यदि हॉटस्टार की संख्या ज्यादा है, तो भले ही येह जादु सुपर उच्च टीआरपी नहीं प्राप्त करता है, यह सुरक्षित होगा, लेकिन यदि ऑनलाइन नंबर प्राप्त करने में विफल रहता है, तो टीवी रेटिंग बहुत महत्वपूर्ण हो जाएगी।

और सिर्फ पहले एपिसोड की भव्यता से, शो के बजट निश्चित रूप से उच्च पक्ष पर हैं, नंबर्स को जल्द ही बढ़ना होगा।

आई डब्लू एम बज्ज.कॉम ये जादू है जिन्न का शो 3 स्टार रेटिंग देता है।

Also Read

Latest stories