आई डब्लू एम बज्ज.कॉम ने स्टार प्लस के संजीवनी 2 की समीक्षा की

2

स्टार प्लस के मेडिकल रोमांटिक ड्रामा, संजीवनी 2 जिसमे सुरभी चांदना और नमित खन्ना है, उससे दर्शकों को काफी उम्मीदें है।

आई डब्लू एम बज्ज.कॉम कल रात पहले एपिसोड का प्रिव्यू देखने के लिए आमंत्रित मीडिया में से एक था।

तो अब बिना देरी किए, विवरण पर आते है।

पहला एपिसोड काफी भव्य था और सबसे प्रमुख पात्रों की आधार रेखा स्थापित करने की कोशिश की थी। मोहनिश बेहल (डॉक्टर शशांक) और गुरदीप कोहली (डॉक्टर जूही) ओरिजिनल कास्ट से बरकरार रखा गया है।

नमित खन्ना ने डॉक्टर सिड के किरदार से सभी का दिल जीत लिया। वह रात जो वो एक लड़की के साथ रहते है बिना उनका नाम जाने वो काफी मजेदार था। लेकिन फिर वो एक गरीब डूबते हुए बच्चे की जान बचाने के लिए सी में कूद जाते है (शर्टलेस सीन)। फिर वह अपने अस्पताल को गलत बताते है कि मुख्यमंत्री का बेटा घायल हो गया है और एक एयरलिफ्ट मांगते है।

यह रचनात्मक था; किसी और ने एक ऐसे कोई स्टंट की कोशिश की होती, तो काफी मुश्किल हो जाती। वह लड़के को स्थिर करने के लिए मेडिकल प्रोटोकॉल के साथ भी नवीनता देता है।

फिर सीन संजीवनी के आेर जाता है, सिटी का सर्वश्रेष्ठ अस्पताल।

फिर सुरभी का प्रवेश होता है, एक पहले वर्ष रेजिडेंट के रूप में, डॉक्टर इशानी। ये ओसीडी के साथ लड़की अपने साथ रहने वाले ने जब गलत कचरे डबे में कोला की केन दाली तो काफी सही प्रतिक्रिया दी। उनकी डॉक्टर सिड़ के साथ भी फेस ऑफ हो जाता है, जो उन्हें अस्पताल श्रृंक देखने के लिए पूछते है।

सच कहूं तो हमने सुरभी के लुक और कॉस्टयूम में और भी बहुत उम्मीदें रखी थीं। लेकिन हो सकता है ये किरदार की मांग है।

प्रिंसिपल हेड ऑफ सर्जरी, डॉक्टर शशांक की डॉक्टर वर्धान (रोहित रॉय) के साथ कहा सुनी हो जाती है जो अस्पताल को पैसे कमाने का बिजनेस समझते है।

डॉक्टर शशांक नए डॉक्टर से अपने महान पेशे के लिए सच्चाई और कह लाने के लिए गर्व करने बोलते है। सुरभी ने भावनाओ को काफी सही तरीके से दर्शाया जब एमबीबीएस ग्रेजुएट्स को उनका पहला सफेद कॉट और स्टेठोस्कॉप्स मिला।

डॉक्टर शशांक को गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं है और जल्द अपना पोजिशन छोड़ देंगे। उनकी बेटी डॉक्टर अंजलि, सायांतानी घोष द्वारा निभाया जाने वाला किरदार, अपने पिता के कदम पर चलना चाहती है लेकिन शायद डॉक्टर शशांक की कोई और योजनाएं हो सकती है।

इस बीच में, डॉक्टर सीड को एक फीमेल बॉलीवुड एक्टर सभी तरह के कॉस्मेटिक्स हस्तक्षेप साइन करने मिलती है और इसे मीडिया से छुपाने के लिए उन्हें कमिशन भी मिलता है। वो इस पैसे को उस बच्चे के इलाज में करना चाहते है जिसका उल्लेख हमने शुरू में किया था।

लेकिन इशानी ये देख लेती है, जैसा कि भविष्य के एपिसोड्स प्रोमो में देखा गया है वो उन्हें बाहर निकलवाने की धमकी देती है।

वो अपने पहले राउंड में एक मरीज कि जान भी बचाते है जब परिचर मेडिकल प्रोफेशनल अपनी नर्वे खो देते है। तब वो नॉर्म्स के खिलाफ जाती है, उस लाइन की चार्ज लेते हुए की मरीज जीवित रहना चाहिए।

उनके परिवार में कुछ एसा है जो वो बताना नहीं चाहती है, लेकिन क्या उनके कागज वो सामने नहीं लाएंगे ?

कुल मिलाकर, पहला एपिसोड डॉक्टर के आदेश अनुसार था – अच्छा ड्रामा, शानदार विजुअल और उम्मीद है कि आगे और मसाला नजर आए। प्रोड्यूसर सिद्धार्थ मल्होत्रा की तारीफ होनी चाहिए।

मुझे आशा है कि यहां संजीवनी के विपरीत, बहुत सारे मेडिकल मुद्दों को रोमांस के साथ दिखाए जाएंगे। पहला एपिसोड उस पर आशा देता है।

रोहित रॉय का ग्रे किरदार काफी कुछ करेगा। उनके पास सही वरिष्ठ डॉक्टर व्यक्तित्व है।

उम्मीद है कि हमे सपोर्टिंग कास्ट जसन और ज्यादा बोलने वाली हरयाणवी डॉक्टर लड़की जिसके साथ इशानी की गार्बेज बीन की कहासुनी हुई थी उससे और भी बहुत कुछ देखने मिले।

गुरदीप कोहली का किरदार के किरदार में बहुत कुछ है क्योंकि डॉक्टर शशांक के साथ उनकी कहानी अलग है। मोहनीश एक सर्वश्रेष्ठ अभिनेता है, इससे ज्यादा कहने की आवश्यकता नहीं है।

अंत में लीड किरदार की शुरुआती चेमिस्ट्री काफी अच्छी रही है, नमीत को सुरभी के प्रशंसकों को प्रभावित करने के लिए गेम ऊपर करना होगा।

सबसे ऊपर, सिद्धार्थ पी मल्होत्रा की बैनर अलकेमी फिल्म्स ने इस मेडिकल सागा को बनाने में अपना दिल और जान डाल दिया है। और इसके पूर्व वर्जन सिनेविस्तास में मल्होत्रा का क्रिएटिव दिमाग होने से शो से बेहतर कहानी की उम्मीद ज्यादा है।

हमे अपने व्यूज जरूर बताएं जब आप 12 अगस्त को इसका पहला एपिसोड देखेंगे।

3.5/5 हमारी रेटिंग्स है संजीवनी के लिए।

2
  • share
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
  • google-plus
  • google-plus
2

Comments

लेटेस्ट स्टोरीज