सुजैन बर्नर्ट से बातचीत

टैलेंटेड अभिनेत्री सुजैन बर्नर्ट जिन्होंने छोटे पर्दे ( ये रिश्ता क्या कहलाता है, चक्रवर्ती अशोका सम्राट और कसौटी ज़िंदगी की) पर दर्शकों को अपनी एक्टिंग से प्रभावित किया है। अब द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर जिसमे अनुपम खेर है, में सोनिया गांधी के किरदार में नजर आएंगी। इस मूवी के ट्रेलर के आने के बाद से ये राजनीतिक ड्रामा काफी चर्चे में है और इंडिया की सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी ने समर्थन किया। मूवी में अक्षय खन्ना संजय बारू का किरदार निभाएंगे और अहाना कुमरा प्रियंका गांधी का।

आई डब्लू एम बज्ज़. कॉम के साथ बातचीत में सुजैन ने फिल्म के बारे में बात की।

फिल्म के लिए शूटिंग के अपने अनुभव के बारे में हमें बताएं।

मैंने पहले अनुपम खेर को डॉक्टर मनमोहन सिंह के रूप में पोस्टर में देखा जो उन्होंने अपने ट्विटर पर जारी किया था, २०१७ में। मुझे पता चला कि उस पोस्टर के माध्यम से कास्टिंग कौन कर रहा था और ईमेल, फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से बॉम्बे कास्टिंग से मैंने संपर्क किया। थोड़े समय बाद मुझे ऑडिशन के लिए अनुरोध मिला, जो मैंने जर्मनी में शूट किया ( जब के छुट्टी पर थी, मेरे माता-पिता के साथ )। मैंने मुझे जो वीडियो भेजी थी उससे तैयारी कि प्रदर्शन को करने के लिए। जब मैं मुंबई में वापस आइ तब मैंने ६ जनवरी २०१८ को कॉन्ट्रैक्ट साइन की। डायरेक्टर विजय गुट्टे के इंटरव्यू में कहा और मैं मूवी में आ गई। मैं हनीमून ट्रैवल (रीमा कागती), इति मृणालिनी (अपर्णा सेन), रमधेनू (शिबॉप्रसद मुखर्जी और नंदिता रॉय), नो प्रॉब्लम (अनीस बज्मी) का हिस्सा थी, तो मेरे लिए ये पहला नहीं था। शूटिंग का अनुभव काफी अच्छा रहा और मुझे बहुत पसंद आया। हमने यूके, दिल्ली और मुंबई में शूटिंग की। मुझे काफी अच्छे जगह देखने मिले और काफी अच्छे लोगो से भी मिली। शूटिंग की अच्छी बात है कि आप अंत में वहा होंगे जहा आप सामान्य रूप से नहीं होते।

आप सोनिया गांधी की भूमिका में कैसे आइ? आपने इस किरदार के लिए क्या तैयारियां की?

मेरी डायरेक्टर विजय के साथ वाचन होता था, जिन्होंने मुझे अपनी दृष्टिकोण पर रखा था। मैंने एक खाली पन्ने की तरह रहने कि कोशिश की, ताकि मैं वो बनूं जो डायरेक्टर को चाहिए और कहानी के लिए आवश्यक थी। मुझे टीम द्वारा वीडियो लिंक भी दिए गए थे अपने किरदार पर काम करने के लिए। मेरे पसंदीदा वीडियो है जिन्हे मैं बार बार देखती थी। किसी भी किरदार से अच्छे से निभाने के लिए मैं उस पर अच्छे से काम करना है। और फिर कुछ समय के बाद सब साथ में आने लगता है; और फिर आप पजल के अंत में आते है और फिर वही व्यक्ति बन जाते है जो आप चित्रित कर रहे है। मुझे किरदार में ढलना मुश्किल नहीं लगा, क्योंकि मैं लंबे समय से भारत में हूं और मैं हिंदी से बहुत अच्छी तरह परिचित हूं। मैं अपनी सभी भूमिकाओं को ईमानदारी के साथ निभाती हूं और मैं इस चित्रित से भयभीत नहीं हूं।

क्या आप भारतीय राजनीति का अनुसरण करती हैं? इस पर आपका क्या ख्याल है?

मैं न्यूज का अनुसरण करती हूं लेकिन मैं राजनीतिक व्यक्ति नहीं हूं। मैं सामाजिक कारणों का समर्थन करती हूं।

फिल्म की रिलीज को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। उस पर कोई टिप्पणी?

आजकल हर फिल्म का अपना विवाद होता है। किसी न किसी समाज के अन्य वर्गों की भावनाएं आहत होती हैं।

सह अभिनेता के साथ काम करने का आपका अनुभव कैसा रहा?

ये काफी अच्छा अनुभव रहा। अहाना कुमरा जो प्रियंका का किरदार निभा रही है वो दिल्ली के शूटिंग के समय मेरी अच्छी दोस्त बन गई। अर्जुन माथुर और मैं इंग्लैंड में शूटिंग के दौरान साथ नाश्ता करते थे। अनुपम खेर मेरे साथ काफी अच्छे से रहते थे जैसे मुझे बहुत पहले से जानते हो। मेरे अक्षय, दिव्या और बाकी के साथ सीन नहीं है लेकिन में द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के सफर के दौरान उनसे मिली। पूरी टीम और क्रू काफी अच्छी है।

शुभकामनाएं, सुजैन!

  • share
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
  • google-plus
  • google-plus
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Comments

लेटेस्ट स्टोरीज