हर्षद चोपड़ा ने आई डब्ल्यू एम बज. कॉम के साथ बातचीत की।

में और अच्छा करने की कोशिश करता अगर बेपनाह जारी रेहता: हर्षद चोपड़ा

टैलेंटेड अभिनेता हर्षद चोपड़ा टीवी के जाने माने कलाकार है। जिन्होंने हमेशा अपने फैंस को अपने अनोखे किरदार से प्रसन्न किया है।

ममता शो से शुरुआत की थी जिसके बाद से उन्होंने दर्शकों का दिल जीत लिया फिर उन्होंने सीरियल लेफ्ट राइट लेफ्ट, किस देश में है मेरा दिल, तेरे लिए, धर्मपत्नी, हमसफ़र और हालही में बेपनाह से दर्शकों की खूब सरहाना प्राप्त की है।

उनके लुक्स सभी लड़कियों के दिल में बस चुका है और उनकी एक्टिंग ने सबको रातो की नींद लेली है!!

बेपनाह जो कलर्स पर बंद होने वाला है, हर्षद के लिए काफी मुश्किल है, और दूसरी ओर वो काफी खुश भी है कि इतने अच्छे सीरियल के साथ उनका इतना अच्छा समय बिता है।

आई डब्ल्यू एम बज. कॉम के साथ बातचीत में हर्षद चोपड़ा ने अपने शो के प्रति अपना प्यार और अभी वो कैसा महसूस कर रहे है और उन्होंने भविष्य के बारे में क्या सोचा है वो बताया।

अंश:

बेपनाह खत्म हो चुका…आप कैसा मेहसूस कर रहे है?

शो के साथ मेरी काफी अच्छी याडे जुड़ी है। ये काफी अच्छा समय था वो जल्दी से बित गया, और एसा लग रहा है जैसे सीरियल कुछ दिनों में ही बंद हो गया।

जभी भी आप किसी शो का हिस्सा बनते है तो आप चाहते है कि वी पूरे भाव के साथ बंद हो। ये मेरा तीसरा शो है। इससे पहले के शो तेरे लिए और हमसफ़र थे। भावना ये है कि में और अच्छा करने की कोशिश करता अगर शो अभी जारी रहता तो।

आपका अभी तक का सफर कहसा रहा है?

बेपनाह ने काम करना सच में काफी अच्छा रहा है। और हम बोहोत आंनद लेते थे। शो के हर कलाकार को अच्छा लगता था। एक अलग स्थिति थी जब शो से जुड़े हर एक व्यक्ति को अपना और अच्छा प्रदर्शन करना था। सबसे अच्छी बात ये है कि हमे बेपनाह शो से बोहोत स्मामन मिला है।

आदित्य हुडा का किरदार इतने उत्साह से निभाने के बाद एसा क्या है जो आप अपने साथ ले जा रहे है?

मेरे लिए अभी ये काफी कठिन परिस्थिति है। में आदित्य हुडा के पूरे किरदार को बोहोत याद करता हूं। व्यक्ति कि कल्पना पेपर तक होती है लेकिन जो इस किरदार को निभाता है वो उसे दूसरे अंदाज़ से लेता है। एक किरदार वैसा कभी नहीं होता जो केवल पेपर पर लिखा जाए वो निभाए जाने पर और उभरता है। मुझे लगता है आप मेरी भावना समझ रहे है में क्या केहना चाहता हूं

तोह आप सबसे ज्यादा क्या याद करते है?

सीरियल के दौरान मेरे जीवन में वो अनुशासन और समय पर सबकुछ होता था उसे याद करता हूं में। अब तो दिन के पूरे २४ घंटे होंगे जिसमे में कभी भी कुछ भी कर सकता हूं। कोई अनुशासन का पालन नहीं होगा। मुझे इससे नफ़रत है लेकिन क्या कर सकते है अभी यही हो रहा है।

जैनिफर विंगेट के साथ काम करके आपको कैसा लगा ?

काफी मजा आता था जेनिफर के साथ। हम दोनों को पता होता था कि देट पर क्या कैसे करना है। हम गर्व से अपना काम करते थे। काम करते वक़्त मस्ती नहीं होती थी।और आखिर में हमेशा कोशिश करते थे। एक कैमरा केवल यही नहीं रिकॉर्ड करता है कि आप क्या कर रहे है बल्कि वो ये भी करता है कि आप क्या करने कि कोशिश कर रहे है। मुझे लगता है इस काम में ईमानदारी और काम को करने की चाह होती है जो हम दोनों के पास थी।

आपके फैंस बेपनाह के बंद होने पर कैसा महसूस कर रहे है ?

अभी सब दुखी है। सभी को एक खाली और सुना पन सा लग रहा है बेपनाह के खत्म होने पर। मुझे रोज सुबह जल्दी उठकर शूटिंग पर जाने की आदत हो गई थी और बोहोत आंनद आता था फिर सब शामको घर आकर आराम करना और दूसरे दिन वपास वही शूटिंग सब कुछ बोहोत अच्छा था। ये एक आदत होती है जो समय के साथ इंसान में आ जाती है। बेपनाह के बंद होने पर एक अच्छी बात है वो ये कि सीरियल के बंद होने की कोई भी खास वजह नई है, कई शो एसे होते है की दर्शकों को पसंद नहीं आते इस कारण बंद करना पड़ता है लेकिन हमारा उल्टा हुआ है दर्शक इसे देखना चाहते है और शो बंद हो रहा है।

हमे बताइए की शो की डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आने की बात हो रही थी उसका क्या हुआ ?

मुझे नहीं लगता मेरे पास इसका जवाब है, क्योंकि मुझे कुछ पता नहीं है। तो इस जाने दीजिए!!

अब आपने आगे क्या सोचा है ?

अभी मैंने कुछ सोचा नहीं है। अभी में कुछ भी कर सकता हूं जो में करना चाहता हूं या। में अभी मेरे इस जीवन से काफी परेशान हूं। अभी तो क्रिसमस और नए साल के जश्न में चला जाएगा। अब ये २० दिन तो के कोई काम करने की नहीं सोचूंगा।ये एक परफेक्ट समय होगा। मुझे कहीं बाहर जाना है लेकिन अभी तक कुछ सोचा नहीं है। अभी तो के सुबह उठकर बैग ले कर कहीं भी जा सकता हूं जहा में चाहूं।

क्या आप वेब स्पेस पर जाने के लिए सोच रहे है ?

जैसा कि में समझता हूं किरदार उस पर आधारित होता है जो हमें मिला हो ना कि अभी क्या उपलब्ध है। मेरे लिए तो कहानी होनी चाहिए और एक कहानी के लिए एक अच्छा विचार होना चाहिए। जब विचार कुछ और हो तो वो काम नहीं करता। लोग या तो शो को अच्छा बनाने के लिए काम करते है या फिर पूरी आजादी के विचार से शो बनाते है। और हर किसीको सुरक्षित रेहना है। अगर आप वेब पर शो के व्यूज देखेंगे तो किसी भी अच्छी कहानी को ज्यादा व्यूज नहीं मिलते है जितने जिस कहानी में सेक्स, अब्यूज हो उस शो को मिलते है। वेब पर सबको अपने विचारो को व्यक्त करने की आजादी मिली है।

सभी को उस आजादी का फायदा उठाना है किसी को असल अच्छी कहानी को दिखाना नहीं है। अगर कल में सबकुछ से तंग हो जाऊ और कुछ व्यक्त करना चाहूं और में एक १० में शो बना दू बस इसी तरह आपको एक प्लेटफॉर्म मिल जाता है। देखते है जब लोग अपनी आजादी का फायदा उठाना छोड़ कर कुछ अच्छा शो पेश करते है जो वाकई में काफी अच्छा हो जाएगा।

अंत में आप क्या कहना चाहते है ?

एक अभिनेता के लिए सबसे अच्छा होता है कि उसे एक एसा सेटअप मिले जहा चीज़े बोहोत अच्छी हो। मुझे एसा लगता है हर कहानी के अंत में सबके लिए कुछ अच्छा विचार होना चाहिए। सबको एसा सोचना चाहिए। किगर किसी भी चीज में मेहनत की जाए तो को जरूर मिलेगी। ये मेरे विचार है में अपने कैरियर में को भी करता हूं उस पर से। लोगो ने एक सकारात्मक विचार होना चाहिए कि सबकुछ जीवन में बोहोत अच्छा है।

Also Read

Latest stories