सिमोन सिंह से बातचीत

डेली सोप को एक निश्चित टेम्पलेट फॉलो करना पड़ता है: सिमोन सिंह

अनुभवी अभिनेत्री सिमोन सिंह कलर्स के शो बहू बेगम(प्रतीक शर्मा) में रीगल मुस्लिम किरदार निभाने का आनंद ले रही है। ” यह हमेशा एक चुनौती है रजिया के किरदार को निभाना, उसके चारों ओर इतने नर्क के बावजूद। और मेरे आउटपुट हर सीन में अलग अलग होते है, जहा वो कुछ समय पर भावुक भी हो जाती है।”

सिमोन लीड किरदार के साथ काम करना बहुत पसंद कर रही है।” दोनों डायना खान और समीक्षा जेसवाल अपना किरदार बहुत अच्छे से निभा रहे है।”

ये बात करते हुए की बहू बेगम, जो एक से ज्यादा शादी कि बात को उजागर करने के लिए शुरू हुआ था, अब फिर एक बार टिपिकल बुरी पत्नी अच्छी पत्नी की कहानी बन गई है, और उन्होंने कहा,” डेली सोप को एक निश्चित टेम्पलेट फॉलो करना पड़ता है। दिन के अंत में आप हम पर आरोप नहीं लगा सकते है, ये एक कमर्शियल वेंचर है और आपको दर्शकों को जो चाहिए वो देना पड़ता है।”

“जैसा कि मैंने कहा, वेब बहुत आगे आ रहा है, टीवी की कहानी भी मैच्योर हो जाएगी।”

उन्होंने पिछली बार अमेज़न प्राइम की महिला केंद्रित नाटक, फोर मोर शॉट्स में एक बहुत ही प्रभावशाली माँ की भूमिका निभाई थी। “हम सीजन 2 के साथ वापस आ जाएंगे।”

यहां पर उन्होंने अपने ऑल्ट बालाजी के मुस्लिम सोशल सीरीज हक से के दूसरे सीजन पर कोई कॉमेंट करने से इंकार कर दिया।” मुझे उम्मीद है कि ये वापस आएगा, लेकिन प्रोड्यूसर (विराज कपूर और करण राज) इसका जवाब बेहतर तरह से दे पाएंगे।” राजीव खंडेलवाल और सुरवीन चावला कश्मीर आधारित ड्रामा, केन घोष द्वारा डायरेक्ट, के अगले बड़े नाम है।

सोनी मुस्लिम सामाजिक, हीना के साथ एक लीड के रूप में अपने करियर की शुरुआत करने वाली सिमोना कहती, हैं, “ऐसे किरदार निभाना दिलचस्प है जो समान परिस्थितियों (पति परित्याग) से गुजरे हों, लेकिन हां, दोनों ही किरदार अलग-अलग आयु और परिस्थितियों से हैं। हीना अपने ट्वेंटी में थी, जबकि रजिया अब अपने चालीसवें और एक माँ के रूप में है। ”(अरिजीत तनेजा उनके ऑन-स्क्रीन बेटे की भूमिका निभा रहे हैं)।

टीवी के अलावा, सिमोना फिल्मों में भी नजर अाई हैं। “मेरी पास 2 प्रोजेक्ट हैं, लाल कप्तान (नवदीप सिंह द्वारा निर्देशित) और लव आज कल 2 (निर्देशक इम्तियाज़ अली)।”

“दोनों माध्यमों के अपने-अपने प्लस पॉइंट हैं। टीवी में, चूंकि आप एक ही चरित्र को लंबे समय तक निभाते हैं, यदि आप चाहें, तो आप वास्तव में खुद को उसमें डुबो सकते हैं। फिल्मों के लिए, यह देखते हुए कि पात्रों को बहुत अच्छी तरह से लिखा गया है। आप इसे अच्छे से निभा सकते है। ”

सिनोम की हिट फ़िल्में कभी ख़ुशी कभी ग़म, कल हो ना हो आदि रही हैं।

Also Read

Latest stories