कैसे बने हार्दिक पंड्या देश के सबसे बड़े खिलाड़ी। जानिए उनके बचपन की कहानी।

जानिए कैसे हार्दिक पांड्या गरीबी से उठकर बने सबसे बेहतर क्रिकेटर

हार्दिक पंड्या भारतीय क्रिकेट टीम के एक ख़तरनाक खिलाड़ी हैं। हार्दिक टीम में अलराउडर हैं। बल्लेबाज़ी से लेके फील्डिंग तक इन्होंने सब तरह से सामने वाली टीम को धूल चटाई है। इनकी तरह इनकी बॉलिंग भी बेहद ख़तरनाक है। हार्दिक जब भी फील्ड पर आते है, या तो अपनी बैटिंग या बॉलिंग से सबको हैरान कर देते है। वे अभी तक के सबसे सफल और टीम के सुपरहिट खिलाड़ी हैं।

हार्दिक के टेस्ट प्रदर्शन बहुत ही अच्छे रहे हैं। उन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर में काफ़ी कम समय में ही सफलता प्राप्त की है। उनके टेस्ट सीरीज बालेबाजी और गेंदबाज़ी, दोनों के ही रेट अच्छे रहे हैं। हार्दिक ने काफ़ी कम उम्र में सफलता प्राप्त की है। उनके बचपन की कहानी दूसरों के लिए बहुत बड़ा उदाहरण है। उनके संघर्ष और गरीबी की कहानी सुन कर आप भी हताश हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें –  देखिये शिखर धवन का कैज़ुअल स्टाइल

हार्दिक पंड्या के पिता हिमांशु पंड्या एक फिनांस का बिजनेस करते थे लेकिन उनका बिजनेस ठप होने के वजह से वह अपने परिवार के साथ वडोदरा में एक भाड़े के घर में बस गए। उनके पिता क्रिकेट के शौकीन थे। उन्हें अपने बेटों को यानी हार्दिक और कृणाल को क्रिकेटर बनाने का सपना था

हार्दिक ने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी और अपना फोकस क्रिकेट में लगाया। हार्दिक और उनके भाई कृणाल एक छोटे से गाड़ी में खेल के मैदान तक जाया करते थे। पैसे ना होने की वजह से वे अच्छे ब्रांड के जूते और किट नहीं खरीद पाते थे। हार्दिक आज देश के सबसे महंगे खिलाड़ियों में जाने जाते हैं। उनके संघर्ष और मेहनत ने उन्हें देश का स्टार खिलाड़ी बनाया है।

दीजिए अपनी राय नीचे कॉमेंट सेक्शन में

ये भी पढ़ें – शिखर धवन या हार्दिक पांड्या: भारत का सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक कौन है?

स्पोर्ट्स से जुड़ी खबरों के लिए बने रहिए और सब्सक्राइब कीजिए आज ही IWMBuzz.com

Also Read

Latest stories